google.com, pub-9950461751932895, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

बिहार बोर्ड इंटर और मैट्रिक की मार्कशीट और सर्टिफिकेट में सुधार की प्रक्रिया शुरू, जल्द करें आवेदन


बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटरमीडिएट और मैट्रिक वार्षिक / कंपार्टमेंटल सह विशेष परीक्षा, 2020, 2021 और इंटरमीडिएट और मैट्रिक वार्षिक परीक्षा 2022 में उपस्थित होने वाले छात्रों को अपनी मार्कशीट, प्रोविजनल प्रमाण पत्र और मूल प्रमाण पत्र को सही करने का मौका दिया है।

जिन छात्रों की मार्कशीट या ऑरिजनल सर्टिफिकेट में नाम, माता/पिता के नाम में कोई त्रुटि या कोई स्पेलिंग गलत है, जाति, वर्ग या लिंग में कोई गलती है, वे सभी छात्र अपने प्रमंडल स्थित समिति के क्षेत्रीय कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं, आवेदन के साथ छात्र को सबूत के तौर पर दस्तावेज भी जमा करने होंगे।


ऐसे परीक्षार्थी अपनी मार्कशीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट एवं मूल सर्टिफिकेट में त्रुटियों के सुधार के लिए एक शपथ पत्र, बोर्ड द्वारा जारी पंजीकरण कार्ड / प्रवेश पत्र की फोटोकॉपी के साथ एक हलफनामे के साथ स्कूल के प्राचार्य को आवेदन जमा करेंगे।

स्कूल के प्रिंसिपल छात्र के आवेदन का सत्यापन करेंगे और उसे वापस कर देंगे। छात्र स्कूल द्वारा वेरिफाई किए गए आवेदन की कॉपी व निर्धारित फीस के साथ अपने प्रमंडल स्थित समिति के क्षेत्रीय कार्यालय के काउंटर पर जमा करेंगे और रसीद लेंगे। क्षेत्रीय कार्यालय आवेदन की जांच करेंगे। मार्कशीट में सुधार के बाद उम्मीदवारों को उनकी संशोधित मार्कशीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट और मूल प्रमाण पत्र की दूसरी कॉपी मिल जाएगी।

  • इन्टरमीडिएट / माध्यमिक वार्षिक एवं कम्पार्टमेन्टल-सह-विशेष परीक्षा 2020, वार्षिक परीक्षा, 2021 एवं 2022 में सम्मिलित परीक्षार्थियों के अंक पत्रादि एवं मूल प्रमाण पत्र में त्रुटि सुधार हेतु आवश्यक सूचना।


एतद्‌ द्वारा राज्य के +2 स्तर के मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों के प्रधान, इन्टरमीडिएट / माध्यमिक वार्षिक एवं कम्पार्टमेन्टल-सह-विशेष परीक्षा 2020, वार्षिक परीक्षा, 2021 एवं 2022 में सम्मिलित परीक्षार्थियों, उनके अभिभावक, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (मा0 शि0) तथा सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को सूचित किया जाता है कि उक्त वर्ष की परीक्षा में सम्मिलित परीक्षार्थियों का अंक पत्रादि एवं मूल प्रमाण पत्र निर्गत किया जा चुका है।

परीक्षा संचालन के क्रम में समिति द्वारा परीक्षार्थी के निर्गत पंजीयन / सूचीकरण प्रमाण पत्र तथा प्रवेश पत्र में त्रुटि सुधार शिक्षण संस्थान के प्रधान के माध्यम से ऑनलाइन करने हेतु विभिन्‍न विज्ञप्तियों के द्वारा कई बार अवसर प्रदान किया गया था | इसके बावजूद कतिपय छात्र, छात्राओं / उनके अभिभावक / शिक्षण संस्थान के प्रधान के माध्यम से अभी भी अंक पत्रादि /मूल प्रमाण पत्र में त्रुटि सुधार करने हेतु आवेदन प्राप्त हो रहे हैं।

वैसे छात्र /छात्रा जिनके उक्त वर्षों की परीक्षा से संबंधित निर्गत अंक पत्रादि /मूल प्रमाण पत्र में लघु /दीर्घ त्रुटि रह गई है, उनक लिए छात्रहित को ध्यान में रखते हुए त्रुटि सुधार कराने के लिए समिति के प्रमण्डलीय क्षेत्रीय कार्यालय में आवेदन साक्ष्य सहित समर्पित //जमा करने हेतु अवसर प्रदान किया जाता है।


बिहार बोर्ड मार्कशीट सर्टिफिकेट सुधार के लिए आवेदन कैसे करें?

  • ऐसे छात्र/छात्रा अपने अंक पत्रादि / मूल प्रमाण पत्र में संशोधन / त्रुटि सुधार हेतु संगत साक्ष्य की स्वसत्यापित छायाप्रति तथा प्रथम श्रेणी दण्डाधिकारी के माध्यम से शपथ-पत्र के साथ अपना आवेदन शिक्षण संस्थान / विद्यालय के प्रधान के पास जमा करेंगे।

  • छात्र/छात्रा द्वारा त्रुटि सुधार हेतु जमा किये गये आवेदन एवं उसके साथ संलग्न साक्ष्य की जाँच शिक्षण संस्थान / विद्यालय के प्रधान अपने शिक्षण संस्थान में संधारित अभिलेख यथा-पंजीयन / सूचीकरण एवं प्रवेश पत्र निर्गत से संबंधित पंजी (रजिस्टर), मूल नामांकन पंजी एवं क्रॉस लिस्ट (टी0आर0) आदि से करेंगे तथा सत्यापनोपरांत अपनी स्पष्ट अनुशंसा / मंतव्य के साथ आवेदन को अग्रसारित कर छात्र / छात्रा को हस्तगत्‌ करा देंगे।

  • शिक्षण संस्थान / विद्यालय के प्रधान द्वारा सत्यापित आवेदन की प्रति (वर्णित साक्ष्य / अभिलेख सहित) के साथ छात्र / छात्रा अपने अंक पत्रादि में संशोधन / त्रुटि सुधार के लिए निर्धारित शुल्क एवं साक्ष्य के साथ समिति के प्रमण्डलीय क्षेत्रीय कार्यालय में संबंधित काउन्टर पर जमा करेंगे एवं प्राप्ति रसीद ले लेंगे | तत्पश्चात्‌ अंक पत्रादि में संशोधन की कार्रवाई होने के उपरान्त छात्र/छात्रा अपना संशोधित / त्रुटिरहित अंक पत्र /औपबंधिक प्रमाण पत्र/मूल प्रमाण पत्र (जिसके लिए आवेदन किया गया है) की द्वितीय प्रति प्राप्त कर सकते हैं।

मैट्रिक की मूल्य प्रमाण पत्र लेने के लिए 500 रुपये का शुल्क देना होगा। बिहार बोर्ड के आदेशनुसार इंटर के छात्र को औबंधिक प्रमाण पत्र लेने के लिए 240 रुपया का देना होगा, इस से पर्व इसकी निर्धारित शुल्क 120 रुपया था बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने प्रमाण पत्रों मे सुधार शुल्क को भी बढ़ा दिया है।

अब छात्र छात्रा को प्रमाण पत्रों मे लघु सुधार के लिए 500 रुपये और दीर्घ सुधार के लिए 800 रुपया देने होंगे, इस से पहले लघु सुधार के लिए 300 और दीर्घ सुधार के लिए 600 रुपया निर्धारित क्या गया है।

मार्कशीट और सर्टिफिकेट में सुधार का काम क्षेत्रीय कार्यालय में करना होगा

बीएसईबी ने अपने आदेश में कहा है कि छात्र जब बोर्ड दफ्तर आएंगे तो, उन्हें साथ में सारा डॉक्यूमेंट जमा कराना होगा. डॉक्यूमेंट देखने के बाद बोर्ड निर्धारित शुल्क छात्र से लेगा और इसके बदले रसीद देगा. वहीं बोर्ड इसके बाद आगे की कार्रवाई करेगी।

सुधार के बाद दिया जाएगा प्रमाण पत्र

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने कहा है कि बोर्ड की ओर से सुधार किए जाने के बाद छात्रों को मार्कशीट, प्रोविजनल सर्टिफिकेट और सर्टिफिकेट मिल जाएगा. बोर्ड ने बताया कि जाति, लिंग और नाम स्पेलिंग में गलती की भी सुधार की जाएगी।

बिहार बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के क्षेत्रीय




60 views0 comments

Comments

Rated 0 out of 5 stars.
No ratings yet

Add a rating
bottom of page